Saturday, August 11, 2007

संगठन में शक्ति

पुराणिक समय से लोग संगठन में शक्ति के बारे में कहते आये हैं, हमने भी स्वतंत्रता इसी मूल मंत्र के पालन के फलस्वरूप मिली,, लेकिन क्या यह सच नहीं है कि हम इसे भूलते जा रहे हैं?

बाहरी और अंदरूनी आतंकवाद से निपटने के लिये पुन: सारे मतभेद मिटा कर एक होना होगा, ये देखिये जब जानवर ये कर सकते है तो हम क्यों नहीं?




(फाईल बडी है, धीरे धीरे लोड हो सकती है)

3 टिप्पणियां:

Udan Tashtari 8/12/2007 11:29:00 AM  

कल ही सहारा समय वाले यह विडियो बार बार दिखा रहे थे.

सच है संगठन में शक्ति है.

-आजकल आप कहाँ हैं, बहुत बहुत दिन तक गायब रह लेते हैं. :)

Neeraj नीरज نیرج 9/17/2007 08:15:00 AM  

हां यह वीडियो कई बार यू ट्यूब ही देखा था. इधर चैनल वाले भी खूब दिखाते है..
वैसे मैं आपकी जानकारी में इज़ाफ़ा कर दूं कि
यू ट्यूब के वीडियो किसी भी टीवी चैनल पर ब्रॉडकास्ट करना यू ट्यूब के नियमों के ख़िलाफ़ है.

पर्यानाद 11/10/2007 03:14:00 PM  

मैं नहीं जानता कि इसे ब्‍लॉग पर कैसे लाउं. यदि आपको आपत्ति न हो तो कृपया मुझे यह वीडियो लेने की अनुमति दें. मेरे चिट्ठे पर पधारने का शुक्रिया. आपको पसंद आया, यह जानकर प्रसन्‍नता हुई. प्रयास करूंगा कि और अच्‍छी जानकारियां और अधिक मात्रा में जुटाता रहूं. य‍ह वीडियो मुझे कैसे मिलेगा कृपया इस बाबत जानकारी देने का कष्‍ट करें.

  © Blogger template 'Solitude' by Ourblogtemplates.com 2008 Customized by Nitin Vyas

Back to TOP