Monday, February 20, 2006

पहला पन्ना

हिन्दी चिट्ठा जगत के समस्त वरिष्ठो को प्रणाम,

हिन्दी चिट्ठा जगत के समस्त वरिष्ठो को प्रणाम,पिछ़ले तीन दिनो मे हिन्दी चिट्ठा के बारे मे इतना कुछ पढ़ा कि खुद को रोक नही पाया, लिखने से। अभी तो सिर्फ इतना ही कि, आप सब ( जितेन्द्रजी, रविजी, अनुनाद, अतुल, अनूप....) के विविध विचार पढ़े और प्रभावित हुआ।

जितेन्द्रजी और रविजी के पन्नो मे से हिन्दी टाईप करने के गुर सीखने की कोशिश कर रहा हू, मात्राऒ की गल्ती सुधारने का प्रयास करूगा।

बहुत ही जल्द आ रहा हू, बहुत कुछ़ कहने और सुनने ।

5 टिप्पणियां:

मिर्ची सेठ 2/23/2006 02:07:00 PM  

स्वागतम् नितिन। यहाँ भी देखें

http://akshargram.com/sarvagya/index.php/Main_page

पंकज

संजय बेंगाणी 2/25/2006 12:05:00 AM  

आपका स्वागत हैं. हिन्दी चिट्ठाकारों का परिवार बढ रहा हैं यह देख कर खुशी हो रही हैं. तो लिखते रहीये और दुसरों को भी प्रोत्साहीत करते रहीये. वर्तनि कि भुले तो होती रहती हैं, निंदा से बेपरवाह रहे और मजे से लिखे, हम हैं ना पढने के लिए.

Jitendra Chaudhary 2/25/2006 01:53:00 AM  

नितिन भाई,
आपका स्वागत है। हिन्दी लिखने के लिये काफी सारे टूल्स हैं,आपको इस बारे मे काफी सहायता हमारे विकी सर्वज्ञ मे मिलेगी, जिसका लिंक मिर्ची सेठ ने दिया है।
इस पन्ने को भी देखिये, आपके काफी काम का है

http://www.kalusa.org/hindi/editors.htm

आपके लेखों का इन्तजार रहेगा।

अनूप शुक्ला 2/25/2006 01:09:00 PM  

स्वागत हमारी तरफ से भी।

आशीष कुमार 'अंशु' 5/07/2008 04:00:00 AM  

शुभकामनायें

  © Blogger template 'Solitude' by Ourblogtemplates.com 2008 Customized by Nitin Vyas

Back to TOP